Night Shift में काम करने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती है ये गुप्त बीमारी

352
0
Night Shift में काम करने वाले हो जाएं सावधान, हो सकती है ये गुप्त बीमारी

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग दिन और रात काम करते हैं. मेट्रो और बड़े शहरों में लोगों को लोगों को नाइट शिफ्ट में भी काम करना पड़ता है. अगर आप नियमित तौर पर नाइट शिफ्ट में काम करते हैं, तो यह आपके लिए हानिकारक हो सकता है. एक रिसर्च में सामने आया है कि नाइट शिफ्ट में काम करने पर आपको गुप्त बीमारी हो सकती है.

रिसर्च के अनुसार, नाइट शिफ्ट में काम करने वालों में मूत्र उत्सर्जन में 8-ओएच-डीजी की मात्रा में कमी आ जाती है. इससे पेशाब के समय आपको जलन महसूस होती है. रात में काम करने से इंसान अच्छी नींद नहीं ले पाता इस कारण शुक्राणुओं के बनने की प्रक्रिया भी कमजोर होती है. जिससे अल्प नपुंसकता या नपुंसकता भी हो सकती है.

रिसर्च में सामने आया है कि नाइट शिफ्ट में काम करने पर आपके शरीर के डीएनए की मरम्मत में बाधा आ सकती है. यह रिसर्च एक भारतीय शोधकर्ता की अगुवाई में हुई. निष्कर्ष में पता चलता है कि रात में काम करने से नींद के हार्मोन मेलाटोनिन के स्राव पर असर पड़ता है.

रात में काम करने वालों में दिन में काम करने वाले समकक्षों की तुलना में पेशाब में सक्रिय डीएनए ऊतकों की मरम्मत करने वाले रसायन का उत्पादन कम होता है. इसे 8-ओएच-डीजी कहते हैं. शोध में पता चला है कि रात में काम करने वालों की कोशिकीय क्षति की मरम्मत की क्षमता में कमी आती है.

शोध में पता चलता है कि हार्मोन मेलाटोनिन के रात में उत्पादन की अपेक्षा दिन में कम उत्पादन होना है. कैंसर रिसर्च सेंटर के रिसर्चकर्ता ने बताया कि संकेत मिलता है कि रात के सोने की अपेक्षा रात में काम करने वालों में मूत्र उत्सर्जन में 8-ओएच-डीजी की मात्रा में खास तौर से कमी आ जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here